तो इस वजह से प्रधानमंत्री के बॉडीगार्ड लेकर चलते हैं साथ एक ब्रीफ़केस !

प्रधानमंत्री की सुरक्षा में लगे कमांडो को तो आपने देखा ही होगा, ये कमांडो स्पेशल प्रोटेक्शन ग्रुप नाम की संस्थान के होते है। स्पेशल प्रोटेक्शन ग्रुप (SPG) नाम की एजेंसी को प्रधानमंत्री की सुरक्षा की जिम्मेदारी सौंपी जाती है। ये संस्था सिर्फ वर्तमान प्रधानमन्त्री की ही सुरक्षा नहीं करती है बल्कि उनके परिवार और पूर्व प्रधानमंत्री की सुरक्षा भी देखती है।

प्रधानमंत्री के साथ एसपीजी और एक काउंटर अटैक टीम (कैट) भी होती है, जो सुरक्षा के अलग अलग तरीके जानती है। इन कमांडो की एक ख़ास तरह की ट्रेनिंग होती है जिसमें इन्हें संकट के समय किसी भी तरह से प्रधानमंत्री को सुरक्षित करने  के लिए तैयार किया जाता है।

प्रधानमंत्री के पास जो बॉडीगार्ड ब्रीफ़केस पकड़ के  चलता है असल में वो सुरक्षा का एक बहुत ही महत्वपूर्ण हथियार होता है। दरअसल ये ब्रीफ़केस एक न्यूक्लियर बटन होता है। इसे प्रधानमंत्री से बस कुछ ही फ़ीट की दूरी पर रखा जाता है। जैसे ही प्रधानमंत्री के आस पास कोई संदिग्ध घटना होती है तो ब्रीफ़केस को खोल दिया जाता है।

पोर्टेबल फ़ोल्डआउट बैलिस्टिक शील्ड

ये असल में एक पोर्टेबल फ़ोल्डआउट बैलिस्टिक शील्ड होती है, ( जैसा की फोटो में आप देख रहे है ) जो एनआईजी लेवल-3 की सुरक्षा प्रदान करती है। ये देखने में बेहद पतली होती है। अगर सिक्योरिटी गार्ड्स को किसी भी तरह का खतरा दिखाई पड़ता है तो उन्हें सिर्फ एक बटन दबाना पड़ता है और ये शील्ड नीचे की तरफ खुल जाती है जो की एक तरह से एक ढाल का काम करती है। बटन दबाते ही ब्रीफ़केस एक शील्ड की तरह पूरा ओपन हो जाता है जो शरीर को कवर करने के काम आता है।

इस ब्रीफ केस के अंदर एक छोटी सी जगह भी होती है जिसमें एक गन होती है।

जब भी प्रधानमंत्री के आस पास कोई संदिग्ध घटना होती है तो ये स्पेशल गार्ड इस ब्रीफकेस को नीचे की ओर झटका देते हैं और यह ब्रिफ केस एक शील्ड की तरह खुल जाता है।

आपको बता दें पीएम की सिक्योरिटी में कई हथकंडे अपनाये जाते है जिसके बारे में अंदाजा लगाना बेहद मुश्किल है। कमांडोज़ बहुत ही स्ट्रिक्ट ट्रेनिंग से गुजरते है ऐसे में ब्रीफ़केस की आपको जानकारी से उन्हें कोई फर्क नही पड़ता। क्योंकि ये तकनीक विदेशों में भी इस्तेमाल की जाती है अतः कोई खुफिया जानकारी नहीं है।

प्रधानमंत्री की सिक्योरिटी में शामिल ख़ास कमांडो…!  

नरेंद्र मोदी एक ऐसा नाम है जिससे पूरी दुनिया वाकिफ है, भारत में तो बच्चा-बच्चा इनके बारे में जानता है। नरेंद्र मोदी ने पूरे भारत का नाम दुनिया भर में रोशन किया है और हर भारतीय का सर गर्व से ऊंचा किया है। भारतीय प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की सबसे ख़ास बात यह है कि उनके बोलने का अंदाज़ सबसे अलग है और वो अपनी बातों से सबका दिल जीत लेते हैं। मोदी जो कहते हैं करते भी हैं, और उन्होंने इस समय तो सभी विपक्षियों की बोलती बंद की हुई है। अब सवाल ये है ऐसे इंसान की सुरक्षा का कैसे होती है और कौन करता है इनकी सुरक्षा। मोदी की जान को आतंकवादियों के साथ-साथ देश में ही पल रहीं कुछ देश विरोधी ताकतों से भी खतरा है।

मोदी की रक्षा कोई आम पुलिस या सिक्योरिटी नहीं करती है बल्कि स्पेशल कमांडो करते हैं। जी हाँ जितनी दुनियाभर में मोदी की चर्चा है उतनी ही ख़ास मोदी की सुरक्षा में लगे कमांडो भी हैं।

जब आप इन कमांडो की खासियत जानेंगे तो आपको भी यकीन नहीं होगा, इनकी ड्रेस से लेकर इनके हथियारों के बारे में आज हम आपको ऐसी बाते बताने वाले हैं कि आप भी कहेंगे वाह ! मोदी जी वाह…!  

स्पेशल प्रोटेक्शन ग्रुप के होते हैं ये कमांडो…! 

भारत के प्रधानमंत्री कितने स्पेशल हैं सभी जानते हैं और ऐसे में उनकी सुरक्षा की अहमियत भी सभी को पता है। उन्होंने कई बार खुले में विरोधियों को चुनौती दी है और ऐसे ऐलान किए हैं कि लोग देखते रह जाते हैं। भारत के प्रधानमन्त्री के यह कमांडो बहुत खतरनाक होते हैं। आज हम इस पोस्ट में इन कमांडो के बारे में ही बताने वाले हैं।

स्पेशल प्रोटेक्शन ग्रुप यानी SPG से जुड़े कमांडो मोदी की सुरक्षा करते हैं। इन कमांडो को ऐसी ट्रेनिंग दी जाती है कि ये अपनी जान देकर भी प्रधानमंत्री की जान बचाते हैं ।

मोदी की सुरक्षा में तैनात इन कमांडो के पास एक स्पेशल तरह की गन होती है और साथ ही कुछ ऐसा भी होता है जिससे ये कुछ भी घटना को साफ़ देख सकते हैं l

देखिए इन ख़ास कमांडो के पास क्या-क्या होता है और कैसे करते हैं पीएम की सुरक्षा…! 

आधुनिक हथियार – FN F2000 असॉल्ट राइफल  और ऑटोमैटिक गन व स्पेशल चश्मे के साथ ये कमांडो हमेशा तैयार रहते हैं और एकदम फुर्ती से चारों तरफ ध्यान रखते हैं,  स्पेशल चश्मों की मदद से यह किसी भी घटना को एकदम साफ़ और क्लियर देख सकते हैं।

बुलेटप्रूफ जैकेट – इन सभी कमांडो के पास बुलेट प्रूफ जैकेट होती है और जैसे ही किसी पर हमला होता है ये तुरंत आगे खड़े हो जाते हैं कि गोली इन्हें लगे। इनकी बुलेटप्रूफ जैकेट कई हजार गोलियों को झेल सकती है।

जूते भी होते हैं स्पेशल

इन कमांडो के जूते भी बहुत स्पेशल होते हैं यह हमेशा एल्बोगार्ड और स्पेशल जूते पहनते हैं । इन जूतों की ख़ास बात यह होती है कि यह जमीन पर कभी फिसलते नहीं हैं। कमांडो जो दस्ताने पहनते हैं वो भी काफी स्पेशल होते हैं, इनकी मदद से ये कोई भी हथियार आसानी से पकड़ लेते हैं।

इन कमांडो की जितनी तारीफ़ की जाए उतनी ही कम है, इनको ऐसी ट्रेनिंग दी जाती है कि ये बिना हथियार भी 20 लोगों से आसानी से लड़ सकते हैं। सबसे ख़ास बात तो ये है कि ये कभी किसी भी हरकत को मिस नहीं करते हैं इनकी नज़र हर छोटी से छोटी घटना पर होती है, इतना ही नही ये कई घंटों तक ड्यूटी करते हैं।

मोदी की सिक्योरिटी में इस्तेमाल होने वाली कार..! 

नरेंद्र मोदी बीएमडब्ल्यू 7 सीरीज की कार इस्तेमाल करते हैं। BMW 7 सीरीज को सबसे सुरक्षित वाहन माना जाता है। यह गाड़ी बमों से लेकर अत्याधुनिक राइफलों की गोलियों को भी झेल सकती है। अगर इसका पहिया पंक्चर हो जाता है तब भी यह मीलों चल सकती है।

पीएम द्वारा इस्तेमाल किये जानी वाली BMW 7 सीरीज की खासियतें

 स्‍ट्रीट क्राइम (किसी धारदार हथियार या 0.44 कैलिबर की हैंडगन से होने वाला हमला), ऑर्गनाइज्‍ड क्राइम (दुनिया भर में आमतौर पर इस्‍तेमाल किए जाने वाले ऑटोमेटिक हथियार जैसे कि एके 47) और धमाके या ऐसे हथियार जो बुलेट प्रूफ कवच को भी भेदने की क्षमता रखते हैं। इस गाड़ी की कीमत लगभग 12 करोड़ बताई जाती है l

 

पीएम् मोदी की कार

भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी खास कार बीएमडब्ल्‍यू 7 सीरि‍ज 760एलआई सि‍क्‍युरि‍टी एडि‍शन में सफर करते हैं. प्रधानमंत्री सुपर फोर्टिफाइड कार के वर्जन में चलते हैं जो कई हथि‍यारों जैसे हैंडगन और एके-47 से होने वाले हमले से बचाती है. यह कार पूरी तरह से वीआर7 ग्रेड ब्‍लास्‍टि‍क प्रोटेक्‍शन और पार्ट्स से बनी है. इसका केबि‍न गैस हमले के दौरान अपने आप गैस-सेफ चैंबर में बदल जाता है. साथ ही, इसमें बैकअप ऑक्‍सीजन टैंक लगा हुआ है. इसके अलावा, इस कार के नीचे माइंस और बम से बचने के लि‍ए कवच लगा हुआ। इसमें एडवांस हीट सेंसर हैं जो बम और मि‍साइल से बचाते हैं. इस कार की कीमत करीब 12 करोड़ रुपये बताई जाती है।

अगर आपको हमारी पोस्ट पसंद आइ हो तो अपने मित्रों के साथ इस पोस्ट को अचूक शेयर करें.. जय हिंद।

 

ટીપ્પણી